बड़ी ख़बरें

अगर कार्यवाही नही हुई तो किया जाएगा बृहद आंदोलन कई बार बरिष्ठ अधिकारियों से की जा चुकी हैं शिकायत मामला शासकीय उचित मूल्य दुकान 1 व 2 बढ़ौरा का

E madhyapradeshNews

सीधी। जिले के शासकीय उचित मूल्य दुकानों में तो हर महीने अनाज का आवंटन किया जाता है। लेकिन गरीबों तक पहुंच रहा है या नही इसकी जानकारी लेने की जरूरत अधिकारी नही समझते है। जिसके चलते गरीबों को अधिकारियों के पास चक्कर लगाते देखा जाता है। ऐसा ही कुछ मामला सीधी जनपद के ग्राम पंचायत बढ़ौरा में संचालित शासकीय उचित मूल्य दुकान 1 व 2 नंबर का सामने आया है। जहां विगत 6 माह से सैकड़ों हितग्राहियों को अनाज नही वितरित किया गया। जिसके चलते कई बार जनसुनवाई व कलेक्टर से मिलकर फरियाद की गई लेकिन नतीजा कुछ नही निकल सका। बढ़ौरा के ग्रामीण बतातें है कि अगर सेल्समैन के पास अनाज लेने जाते है तो वह गाली गलौच करके भगा देता है। हितग्राहियो ने आज फिर से आवेदन देते हुए मांग की है कि दुकान नं-1 ग्राम पंचायत के वार्ड क्रमांक 1 से 10 के बीच गांव में,शाउमू की दुकान नंबर 2 वार्ड क्र 11 से 24 के बीच गांव में खोला जाय जिससे जनता को समस्या न हो। ग्रामीणों ने प्रशासन को यह भी चेतावनी दी कि अगर हितग्राहियों को खाद्यान दिलाकर विक्रेताओं के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई की जाय अन्यथा समस्त ग्रामवासी चक्काजाम के साथ आंदोलन करने पर विवश हो जायेगें।
सरपंच के घर से चलती है दुकान
6 महीने से बढ़ौरा के ग्रामवासियों को अनाज न मिलने से आज करीब 150 की संख्या में ग्रामीण शिकायत करने पहुंचे थे। ग्रामीणों का कहना था कि शाउमू की दुकान बढ़ौरा सरपंच के घर से संचालित की जाती है। जिससे यह काफी दूर भी है अगर कोई भी हितग्राही अनाज लेने जाता भी है तो उसे गाली गलौच देकर भगा दिया जाता है। जिसके कारण 6 महीनों से पंचायत से लेकर जिले में बैठे अधिकारियों के पास चक्कर लगा चुके है लेकिन इसकी सुनवाई नही हो सकी है।
ग्रामीणों की शिकायत पर मैं संबंधित सेल्समैन के खिलाफ मुकदमा कायम करने के आदेश दे दिए है, जितने महीने का अनाज नही मिला सेल्समैन से एक-एक दाने की रिकवरी कराकर ग्रामीणों को दिए जायेगें।
रवीन्द्र कुमार चौधरी
Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close