मध्य प्रदेशस्वास्थ्य

अभी तक बंगालियों के गिरेबान तक नही पहुंचे प्रशासन के हांथ – अभी तक सभी विकासखंडों में इक्का-दुक्का हुई कार्रवाई

सीधी…….
जिले में जब कोरोना जमकर तबाही मचाने लगा तब सीएमएचओ के झोलाछाप चिकित्सक नजर आये और उन पर कार्रवाई करने के लिए निर्देश दिए गए। जिले में हालात यह है कि कुसमी,मझौली,सिहावल व सीधी विकासखंड अन्तर्गत हर गांव में दो-दो बंगाली अपना ठिकाना बनाये हुए है। लेकिन अभी बंगालियों की गर्दन तक प्रशासन के हांथ नही पहुंचे है। अभी चुनिंदा झोलाछापों पर प्रशासन की नजर पड़ी है। जिन पर कार्रवाई की गई है। विगत दिनो नायब तहसीलदार दीपेन्द्र सिंह तिवारी द्वारा सेमरिया क्षेत्र का भ्रमण किया गया जहां मेन मार्केट में अवैध रूप से संचालित मां पार्वती क्लीनिक को सीज कर दिया गया है। वहीं भले ही क्लीनिक सीज कर प्रशासन वाहवाही लूटने के प्रयास किया हो लेकिन जिस हिसाब से कार्यवाही की जा रही है प्रशासन पर सवालिया निशान लगता दिख रहा है,आपको बता दें कि सेमरिया कस्बे सहित ग्रामीण इलाकों में झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार है जो ना केवल गरीब अनभिज्ञ के जान के साथ खिलवाड़ कर काली कमाई से अपना प्रभाव जमाए हुए हैं बल्कि अश्लील हरकतें करने से भी बाज नहीं आ रहे हैं जिनका खबर प्रकाशन कर स्थानीय अमला को कई बार अवगत कराया जा चुका है किंतु मात्र गिने चुने इक्का-दुक्का कार्यवाही कर प्रशासन कोरम पूर्ण कर रहा है जिससे प्रशासन कहीं ना कहीं संदिग्धता के घेरे में है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close