मध्य प्रदेश

कथित पत्रकार पर कार्यवाही कराने सचिव ने चौकी प्रभारी को लिखा पत्र खबर न प्रकाशन करने के एवज में की जा रही थी पैसों की मांग

सीधी। कहते है न कि एक मरी मछली पूरे तालाब को गंदा कर देती हैं उसी प्रकार से कुछ ऐसे ही तथाकथित पत्रकार अपने जिले में पत्रकारिता पेशे को बदनाम कर रहे हैं। अब जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन को चाहिए कि ऐसे तथाकथित ब्लैकमेलर के ऊपर कड़ी से कड़ी कार्यवाही करे। ताकि ग्रामीण क्षेत्रो में कुकुरमुत्ते की तरह पनप रहे कथित पत्रकारों पर रोक लग सके। कुछ ऐसा ही आवेदन धनहा के सचिव द्वारा कथित पत्रकार पर कार्यवाही करने चौकी प्रभारी खड्डी को दिया गया है। आवेदन में बताया गया है कि 2 जून को तथाकथित पत्रकार बिनय पाण्डेय द्वारा ग्राम पंचायत भवन की गलत फोटो विडियो निकाली गई। क्योंकि ग्राम पंचायत के कर्मचारियों की ड्यूटी कोविड 19 वैक्सीनेसन में लगी थी,ग्राम पंचायत के कर्मचारियों के द्वारा खाना न खाने के कारण ग्राम पंचायत के बगल में एक जगह खाना बनवाया था लगभग तीन बजे हम लोग खाना खाने के लिए रामकृपाल विश्वकर्मा के घर पहुंचे तो उसके यहाँ बैठने के लिए पर्याप्त स्थान नहीं था तो यहाँ से भोजन ले कर पंचायत भवन के स्टोर रूम में (जो खाली था) आ गये हम लोगों के द्वारा सादा खाना (रोटी सब्जी) खाकार उठ रहे थे। तभी विनय पाण्डेय ग्राम मोहनी, आये और विडियों बनाने लगे, तब हम लोगों के द्वारा कहा गया कि ये क्या कर रहे हो तब विनय पाण्डेय ग्राम पंचायत भवन के बाहर चले गये और मुझे अकेले बुलाकर 10 हजार की मांग की गयी, बोले 10 हजार दो नहीं तो मैं पेपर में निकालवा दूंगा, तो मेरे द्वारा कहा गया कि मैं किस चीज का पैसा दू तो बोले कि आप लोग यहा दारू मुर्गा खा रहे हो तो मै बोला की देख लो कहाँ है दारू मुर्गा, यहाँ सादा खाना रोटी और सब्जी है, जिसके यहाँ से खाना आया है वो भी बैठे है आप पूछ लिजिए, तो मुझे विनय पाण्डेय द्वारा अभद्र गाली गलौच देने लगे व रास्ते में मारने की धमकी दी गई और विनय पाण्डेय द्वारा पहले कई बार पैसे को लेकर गाली गलौच कर चुके है, साथ ही अनावश्यक अरोप दारू मुर्गा खाने का मनगढ़न्त अरोप लगाकर ब्लैक मेल करने का प्रयास कर प्रताणित कर रहे। इसलिए विनय पाण्डेय के ऊपर कठोर दण्डात्मक कार्यवाही करने की महान कृपा की जाय। अब देखना यह होगा कि इस तथाकथित ब्लैकमेलर पत्रकार के ऊपर क्या कुछ कार्यवाही की जाएगी।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close